Cattle Breeding Farm Agar

उद्देश्य

मालवी नस्ल के पशुओं गोवंश का संरक्षण एवं संवर्धन मुख्य उद्देश्य है। मालवी नस्ल भारत वर्ष की एक प्रख्यात नस्ल है जिसके पशुओं का उपयोग खेती के लिये बहुतायत में होता है । मालवी पषु अपनी कार्य क्षमता के लिये मध्यप्रदेश ही नहीं अपितु पडोसी राज्यों में जैसे राजस्थान, गुजरात महाराष्ट्र में भी अत्यन्त लोकप्रिय है । राष्ट्रीय एवं प्रदेश की पशु प्रजनन नीति के तहत म0प्र0 के राजगढ, शाजापुर, आगर एवं उज्जैन जिले में केवल मालवी पशुओं का प्रजनन एवं संवर्धन किया जा रहा है । इसी परिपेक्ष्य में पशु प्रजनन प्रक्षेत्र आगर मालवा में  नैसर्गिंक गर्भाधान एवं कृत्रिम गर्भाधान के लिये वीर्य संकलन हेतू शुद्व मालवी नस्ल के सांण्डों का उत्पादन किया जाता है ।

-प्रक्षेत्र स्थापना और विस्तार-

पशु प्रजनन प्रक्षेत्र आगर मालवा जिला आगर में, बडा तालाव केवडा स्वामी मंदिर के पास पुरा फार्म साहब नगर में स्थित है । प्रक्षेत्र की स्थापना वर्ष 1942 एवं विस्तार 1956 में हुआ है । प्रक्षेत्र की भौगोलिक स्थिति एवं विस्तार निम्नवत हैः-
प्रक्षेत्र का कुल क्षेत्रफल –                   1150 एकड
कृषि योग्य भूमि –                            85.75 एकड
घास-बीड –                                   876 एकड
चरनोई भूमि –                                174.25 एकड
कार्यालयीन भवन एवं पशु शेड –         14 एकड

-पदो की स्तिथि-

स.क्र.         पदनाम      स्वीकृत पद
  01  प्रबंधक / पशु चिकित्सा सहायक शल्यज्ञ          01
  02  सहायक वर्ग- दो          01
  03  सहायक पशु चिकित्सा क्षेत्र अधिकारी          02
  04  मेट          01
  05  भृत्य          01
  06  कार्यभारित एवं आकस्मिक निधि के कर्मचारी          13